उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना 2021 : ऑनलाइन आवेदन | लाभार्थी लिस्ट

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना | प्रधानमंत्री आवास योजना उत्तर प्रदेश सूची | आवास विकास योजना लखनऊ 2021 | मुख्यमंत्री आवास योजना उत्तर प्रदेश Online | प्रधानमंत्री आवास योजना उत्तर प्रदेश अंबेडकर नगर | मुख्यमंत्री आवास योजना उत्तर प्रदेश मैनपुरी | rhreporting.nic.in 2020-21 new list | pmayg.nic.in 2020-21 gramin list | pmay urban list 2020-21 | प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण लिस्ट उत्तर प्रदेश 2021 |

Uttar Pradesh Awas Vikas Yojana :- उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा शुरू किया गया है | इस योजना को 2022 तक देश के सभी लोगो को आवास प्रदान करने के लक्ष्य से शुरू किया गया है | प्रधानमंत्री आवास विकास योजना का लाभ वो लाभार्थी ले सकते है जो निम्न तथा कमजोर वर्ग से है | और जिनकी आय कम है तथा जो घर लेने में असमर्थ है |

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना के तहत वे लाभार्थी सस्ते दरों पर मकान प्राप्त कर सकते है जो गरीबी के कारण घर लेने में असमर्थ है | इस योजना का उद्देश्य गरीब लोगो, निम्न वर्ग के लोगो या शहरी लोगो को जिनकी आय कम है तथा गरीबी रेखा में आते है,उन्हें आश्रय प्रदान करना है। अवध विहार योजना लखनऊ से सम्बंधित सभी जानकरी जैसे आवेदन प्रक्रिया ,पात्रता तथा लाभ की जानकारी हम आपको इस लेख में उपलब्ध करा रहे हैं | अतः उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना की पूरी जानकारी के लिए आपको हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढना होगा |

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना 2021 क्या है?

इस योजना का उद्देश्य लोगो की गरीबी को दूर करना है| हम सभी भली भांति जानते है की आज के समय में घर लेना कितना मुश्किल है | महंगाई के इस दौर में लोगो की आय कम और खर्चे ज्यादा है | इसीलिए सरकार द्वारा पूर्ण प्रयास किया जा रहा है की गरीब व कमजोर वर्ग के लोग जो अपना घर बनाने में असमर्थ हैं | उन्हें सरकार सस्ती दरो पर घर उपलब्ध कराएगी| जिससे कोई भी नागरिक बेघर न रहे |

इस योजना से यूपी में रहने वाले गरीब लोगो को अच्छा जीवन व्यतीत करने का एक सुनहरा अवसर प्राप्त होगा | इसीलिए सरकार गरीब लोगो की समस्या दूर करने का प्रयास कर रही है | पीएम आवास योजना यूपी के तेहत पहले होम लोन 3 से 6 लाख रुपए तक दिया जाता था परन्तु अब इसे बढ़ा कर होम लोन की धनराशि 18 लाख रुपए कर दी गयी है |

प्रधानमंत्री आवास योजना  के कार्यान्वयन में यूपी को प्रथम पुरस्कार

दोस्तों प्रधानमंत्री आवास योजना का शुभारंभ हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने किया  है  और इस योजना के सफलतापूर्वक  कार्यान्वयन  के लिए  उत्तर प्रदेश राज्य को  प्रथम पुरस्कार दिया गया है  |उत्तर प्रदेश राज्य के मिलता नगर  को  भारत के सर्वश्रेष्ठ नगरपालिका का पुरस्कार दिया गया है |उत्तर प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री  जीने बताया है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत राज्य के सभी लाभार्थियों को घर प्रदान किया जाएगा और उनके घर का निर्माण कार्य करवाया  जाएगा। और उन्होंने  इसके अतिरिक्त  यह भी बताया कि  प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत से बनाए जाने वाले घरों की गुणवत्ता का भी खास ख्याल रखा जाएगा  और यही प्रयास किया जाएगा कि बेहतर गुणवत्ता के   घरों का निर्माण हो सके राज्य के जिन व्यक्तियों के पास अपने खुद के घर नहीं है|  उन्हें इस योजना के तहत  घर प्रदान किया  जाएगा।

मुख्यमंत्री उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना की पहली किश्त : 21562 लाभार्थियों के खाते में ट्रान्सफर किये गए 87 करोड़ रुपए

हाल ही में एक वीडियो कांफ्रंसिंग के जरिये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ जी ने यह जानकारी प्रदान कि उत्तर प्रदेश आवास योजना 2021 के अंतर्गत 21562 लाभार्थियों के खाते में 87 करोड़ रुपए ट्रान्सफर कर दिए गए हैं| तथा साथ ही उन्होंने यह जानकारी भी दी की इस योजना के पात्र सभी लोगों को उत्तर प्रदेश आवास योजना का लाभ प्राप्त होगा |

दोस्तों यदि आप भी इस योजना के पात्र हैं तथा इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपके सबसे पहले इस योजना के तेहत ऑनलाइन आवेदन करना होगा| उस के पश्चात् आपको योजना की लाभार्थी सूची में अपने नाम की जांच करनी होगी | आपका नाम इस सूची में आने के पश्चात् ही आप इस योजना का लाभ प्राप्त कर पाएंगे |

उत्तर प्रदेश इंटर्नशिप योजना:ऑनलाइन आवेदन

मुख्यमंत्री उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना का उद्देश्य क्या है?

  • उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना का उद्देश्य उन लोगो को लाभ पहुचाना है जिनके पास अपना मकान नही है |
  • तथा जो आर्थिक तंगी व गरीबी के कारण अपने लिए घर नहीं बना सकते है |
  • इस योजना के तहेत ऐसे लोगो को सस्ती दरो पर घर उपलब्ध कराना ही सरकार का मुख्य उद्देश्य है |
  • जिससे गरीब व्यक्ति के पास भी अपना खुद का घर हो सके।
  • तथा देश का कोई भी नागरिक बेघर न रहे |
  • इस के साथ-साथ लोगो की गरीबी दूर करना भी मुख्यमंत्री आवास योजना का उद्देश्य है |
  • सरकार  इस योजना के तहत  कच्चे मकानों को  प्रधानमंत्री आवास योजना में बदलना चाहती है|
  • प्रधानमंत्री जी द्वारा दिए गए घरों में  कमजोर व्यक्ति  सुरक्षित महसूस करेंगे

प्रधान मंत्री आवास योजना (PMAY) के बारे में

यह योजना भारत सरकार द्वारा प्रधान मंत्री आवास  (PMAY) की स्कीम महंगे रियल स्टेट सेक्टर की अपेक्षा सस्ते घरों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरु की गई थी |

इस स्कीम का लक्ष्य, महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में 31 मार्च 2022 तक देश भर में 20 मिलियन घरों का निर्माण करके “सब के लिए घर (हाउसिंग फॉर ऑल)” के अपने उद्देश्य को प्राप्त करना है. और सभी परिवारों को घर प्रदान करने का इस योजना का मुख्य उद्देश्य है|

प्रधानमंत्री आवास योजना औद्योगिक विकास प्राधिकरण

प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश राज्य में औद्योगिक विकास प्राधिकरण  के माध्यम से  लागू किया जाएगा। दोस्तों पहले औद्योगिक विकास प्राधिकरण के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना को शुरू नहीं किया गया था  परंतु अब उत्तर प्रदेश की सरकार ने इसे लागू करने का  निर्णय ले लिया है  और सरकार ने  औद्योगिक विकास प्राधिकरण के लिए  एक नई नीति भी तैयार की  है।

  • वर्तमान में प्रधानमंत्री आवास योजना के द्वारा  राज्य के गरीब  नागरिकों को  आवास मुहैया हो पाएगा 
  • और उनकी आवाज से जुड़ी समस्याएं भी दूर हो जाएंगी |
  • औद्योगिक विकास प्राधिकरण   के हेतु प्रधानमंत्री आवास योजना  को  कैबिनेट के माध्यम से अनुमति दे दी गई है 
  • इस योजना को शुरू करके  घरों की मांग का भी हिसाब  लगाया जा सकेगा ।
  • घरों की मांग का हिसाब लगाने के पश्चात  योजना के तहत आवेदन कर्ताओं  की कुल संख्या को सुनिश्चित किया जाएगा
  • जिसके माध्यम से प्रत्येक व्यक्ति के पास घर हो सकेगा
  • इस योजना के अंतर्गत कम से कम 250 घर होंगे
  • और  जो नागरिक  आर्थिक रूप से कमजोर है और नागरिकों को  35%  हिस्सा दिया जाएगा 
  • और उन्हें घर प्रदान किया जाएगा ।
  • इसी योजना के तहत  विकासकर्ता को 2.5 लाख रुपए का अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत देश की केंद्र सरकार  ₹700000  प्रदान करेगी  और ₹100000 राज्य सरकार प्रदान  करेगी।

क्षेत्रों की आवश्यकताओं के आधार पर उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना का वर्गीकरण

इस योजना को सरकार ने दो भागों में बांटा है- शहरी और ग्रामीण|

शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों   की आवश्यकता हिसाब से इन योजनाओं पर कार्य किया जाएगा जिसका लाभ शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्तियों को मिलेगा|

UP Rojgar Mela

प्रधान मंत्री आवास योजना अर्बन (PMAY-U)

मित्रों वर्तमान में, प्रधान मंत्री आवास योजना अर्बन (PMAY-U) की इस स्कीम के अंतर्गत लगभग 4,331 कस्बे और शहर हैं| केंद्रीय सरकार ने इन सभी कस्बों और शहरों की जांच की है इसमें शहरी विकास प्राधिकरण, विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण, औद्योगिक विकास प्राधिकरण, विकास क्षेत्र, अधिसूचित योजना, और शहरी प्राधिकरण और नियमों के लिए उत्तरदायी सभी अन्य प्राधिकरण शामिल हैं|

यह योजना तीन चरणों में कार्य करेगी यह चरण इस प्रकार हैं:

  • Phase 1. सरकार द्वारा  चुने गए  राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (UT) में अप्रैल 2015 और मार्च 2017 के बीच 100 शहरों को कवर करना और जरूरतमंदों को घर उपलब्ध  करवाना|
  • Phase 2. अप्रैल 2017 और मार्च 2019 के बीच 200 अतिरिक्त शहरों को कवर करना और जरूरतमंदों को घर उपलब्ध  करवाना|
  • Phase 3. अप्रैल 2019 और मार्च 2022 के बीच बचे हुए शहरों को कवर करना और जरूरतमंदों को घर उपलब्ध  करवाना|

आवास और शहरी कार्य मंत्रालय (मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स) के डेटा के अनुसार, 1 जुलाई 2019 तक, सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में PMAY-U की प्रगति इस प्रकार है:

स्वीकृत घर83.63 लाख
पूरे हो चुके मकान26.08 लाख
अधिगृहीत मकान23.97 लाख

समान डेटा के अनुसार, इन्वेस्ट की जाने वाली कुल राशि रु. 4,95,838 करोड़ है, जिसमें से रु. 51,414.5 करोड़ की धनराशि पहले ही जारी की जा चुकी है. जिससे अच्छी क्वालिटी के घरों का निर्माण किया जाएगा और वर्तमान में आवश्यक सुविधाओं को भी घरों में निर्माण के दौरान सम्मिलित किया जाएगा

प्रधान मंत्री आवास योजना ग्रामीण (PMAY-G)

प्रधान मंत्री आवास योजना ग्रामीण (PMAY-G) को पहले इंदिरा आवास योजना कहा जाता था परंतु अब  मार्च 2016 में इसका नाम बदल दिया गया | इसका लक्ष्य दिल्ली और चंडीगढ़ को छोड़कर पूरे ग्रामीण भारत के लिए किफायती और सुगम हाउसिंग को बढ़ावा देना है जिससे लोगों को कम दरों में घर प्रदान किए जाएंगे|

इसका उद्देश्य बेघरों को फाइनेंशियल सहायता और पुराने घरों में रहने वालों को पक्के घरों के निर्माण में सहायता प्रदान करना है| मैदानी इलाकों में रहने वाले लाभार्थी रु. 1.2 लाख तक प्राप्त कर सकते हैं और उत्तर-पूर्वी, पहाड़ी क्षेत्रों, इंटीग्रेटेड ऐक्शन प्लान (IAP),और दुर्गम क्षेत्रों में रहने वाले हाउसिंग के लिए रु. 1.3 लाख तक का लाभ उठा सकते हैं| वर्तमान में, ग्रामीण विकास मंत्रालय से उपलब्ध डेटा के अनुसार, सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 1,03,01,107 मकानों को स्वीकृति दी जा चुकी है|

रियल स्टेट सेक्टर में खरीद को बढ़ावा देने के प्रयास में, सरकार ने PMAY की शुरुआत की, इसलिए सरकार में  प्रधानमंत्री आवास योजना शुरू की है  ताकि  लोगों का रुख  रियल स्टेट  खरीद  और हो सके|

हाउसिंग डेवलपमेंट की इस लागत को केन्द्र और राज्य सरकार में निम्नलिखित तरीकों से शेयर किया जाएगा:-

मैदानी क्षेत्रों के लिए64:40
उत्तर-पूर्वी और पहाड़ी क्षेत्रों के लिए90:10

उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना के लाभार्थियों की पहचान 

जो इस योजना  में अपना आवेदन देना चाहते हैं वह इन सभी शर्तों पर  सही होने चाहिए  और उन व्यक्तियों की पहचान सामाजिक-आर्थिक और जाति जनगणना (SECC) से उपलब्ध डेटा के अनुसार की जाएगी और इसमें यही व्यक्ति शामिल होंगे :-

  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति
  • गैर-SC/ST और BPL में आने वाले अल्पसंख्यक
  • स्वतंत्र बंधुआ मजदूर
  • अर्धसैनिक बलों के परिजन और विधवाएं तथा ऐक्शन में मारे गए व्यक्ति, पूर्व सैनिक,
  • और रिटायरमेंट स्कीम के अंतर्गत आने वाले व्यक्ति शामिल हैं|

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना 2021 के फायदे कैसे मिलेंगे ?

इस योजना का लाभ लेने के लिए कुछ बातो का ध्यान देना जरुरी है-

  • मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक व्यक्ति की आयु 21 से 55 साल के बीच होने चाहिए।
  • आवेदक के पास आईडी संख्या (आधार कार्ड ,राशन कार्ड ,पहचान पत्र, खाता संख्या ) होना अनिवार्य है।
  • मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ वो व्यक्ति नही उठा सकते जिनके पास पहले से ही अपना पक्का मकान है।
  • इस योजना का लाभ केवल उन व्यक्तियों को मिल सकता है जिन्होंने पहले किसी स्कीम का लाभ न लिया हो।
  • उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना 2021 का लाभ लेने के लिए
  • लाभार्थी का शहर, ग्राम मे कोई और घर नहीं होना चाहिए।
  • इस स्कीम का लाभ एक परिवार में एक ही व्यक्ति को मिल सकता है।
  • परिवार की वार्षिक आय 3 लाख तक होनी चाहिए तभी वह इस योजना का लाभ उठा सकता है।
  • जिस व्यक्ति को इस योजना का लाभ लेना है उसे उस शहर का होना अनिवार्य है।

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना की विशेषताएं

  • राज्य के विकास हेतु शहरों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में सस्ती कीमतों पर अच्छे मकानों का निर्माण |
  • यदि गाँव मे रहने वाले लोगो तथा शहरों मे रहने वाले लोगो के पास अपना घर नही है|
  • तो वह उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना के माध्यम से सस्ती कीमतों पर स्वयं का घर बना सकते है।

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना के लाभ

  • जो किराये के मकानों मे रहते हैं और अपना घर होने का सपना देखते हैं |
  • वह इस योजना से इस सपने को पूरा कर सकते हैं।
  • उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना के अंतर्गत आधुनिक टाउनशिप का निर्माण करना है |
  • इसमें समाज के सभी वर्गों को सस्ती दरों पर घर मिलेंगे।
  • उत्तरप्रदेश आवास विकास योजना में पहले आओ पहले पाओ के अनुसार फ्लैट आवंटित किये जायेंगे |
  • इसमें 400 वर्ग फिट के फ्लैट की कीमत तेरह लाख के आसपास है।
  • इस योजना के तेहत बनने वाली टाउनशिप में आधुनिक सुविधाओं में हॉस्पिटल ,स्कूल ,पार्क, सामुदायिक भवन आदि सम्मिलित हैं।

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना 2021 के लिए आवेदन किस प्रकार करें?

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना 2021 हेतु आवेदन करने के लिए या इससे जुडी जानकारी प्राप्त करने के लिए ऑफिसियल वेब साइट https://upavp.in/ पर जाना होगा| आवेदन से सम्बंधित सभी प्रक्रिया आवास विकास योजना की इसी वेबसाइट पर पूरी की जाएगी।

राज्य के जो भी नागरिक इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं | उन्हें UP Housing & Development Board की वेबसाइट के माध्यम से आवेदन करना है |

  • सबसे पहले उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ।
  • अब यहां होम पेज पर ही आवास विकास योजना का लिंक मिलेगा इसपर क्लिक करें।
  • आवेदन से सम्बंधित सभी जानकारी भरें।
  • फॉर्म के साथ लगाने वाले सभी डॉक्यूमेंट लगाएं।
  • अब आवेदन फॉर्म को सब्मिट कर दें |

आवेदन पत्र भरने के कुछ महत्वपूर्ण दिशा निर्देश

फेक वेबसाइट से बचें

दोस्तों यदि आप प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए आवेदन पत्र भर रहे हैं तो आपको  कुछ खास बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है  जैसे कि आप जिस ऑफिशियल वेबसाइट के द्वारा अपने आवेदन फॉर्म को भर रहे हैं  आपको उसकी जांच कर लेनी है क्योंकि  जरूरी नहीं है कि हर वेबसाइट सही ही हो कुछ वेबसाइट फेक भी होती हैं और उन पर आवेदन करने से कोई लाभ भी नहीं मिलता है इसलिए आपको यह ध्यान रख लेना है कि आप जिस व्यक्ति के माध्यम से योजना के तहत आवेदन कर रहे हैं वह वेबसाइट फ्रॉड तो नहीं है आप गलत वेबसाइट को भुगतान तो नहीं कर रही हैं आदि दोस्तों जिस वेबसाइट से आप आवेदन करेंगे  आपको यह ध्यान रखना है कि वह वेबसाइट सरकारी होनी चाहिए तभी आपको इस योजना का लाभ मिल पाएगा |

आवेदन पत्र को करें रिचेक

दोस्तों एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गई समस्त जानकारी आपको  ध्यान पूर्वक सबमिट करनी होगी | अगर आपने सभी जानकारी सही प्रकार से दर्ज नहीं की है  तो आप के आवेदन को कैंसिल कर दिया जाएगा  और फिर आप इस योजना के लाभार्थी नहीं बन सकते हैं  यदि आप से आवेदन फॉर्म भरते समय कोई मिस्टेक हो गई है तो आप उसको  फॉर्म भरते समय ही संशोधित कर  सकते हैं  यदि आपने एक बार फोन को सबमिट कर दिया तब इस स्थिति में संशोधन करना मुश्किल हो जाता है दोस्तों यदि आप योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन कर रहे हैं तो आपको अपनी राइटिंग का विशेष ध्यान रखना होगा क्योंकि यदि फॉर्म की सत्यापन होने पर आपकी राइटिंग सत्यापन करने वाले व्यक्ति को समझ में नहीं आए तो इस स्थिति में भी आप का आवेदन  कैंसिल हो सकता है 

सभी दिशा निर्देशों का करें पालन

दोस्तों जब आप आवेदन फॉर्म भर रहे हैं तो आपको दिए गए सभी दिशानिर्देशों को  पहले ही पढ़ लेना होगा यदि आप  दिशानिर्देशों को पढ़े बिना अपना आवेदन फॉर्म भर देते हैं  तो आप से त्रुटि भी हो सकती हैं इसीलिए आपको पहले दिशा निर्देशों को फॉलो करना होगा फिर आवेदन फॉर्म भरना होगा |

रखे फाइल साइज का ध्यान

दोस्तों आवेदन फॉर्म भरते समय आपको आवेदन फॉर्म के साथ कई दस्तावेजों को अटैच करना होता है इसीलिए आपको यह ध्यान रखना है जिन दस्तावेजों को आप अपलोड कर रहे हैं वह सही है या नहीं आपको दस्तावेजों के साथ अपने सिग्नेचर और आवश्यक दस्तावेज भी संलग्न करने पड़ते हैं इसीलिए आपको आवेदन फॉर्म पर दिए गए दिशा निर्देशों को ध्यान पूर्वक पढ़ लेना है तभी आप को आवेदन फॉर्म भरना है दोस्तों कई बार ऐसा होता है कि जिससे साइज में आपसे डॉक्यूमेंट की प्रति मांगी गई है उसका साइज दिशानिर्देशों के अंदर  दिया होता है  |आपको इसलिए दिशा निर्देशों को पढ़ लेना चाहिए जिससे आपको साइज का पता चल जाएगा  और आप उसी साइज में अपनी फाइल को अपलोड कर पाएंगे |

अनावश्यक जानकारी दर्ज करने से बचें

दोस्तों  फालतू जानकारी  को आवेदन फॉर्म में नहीं रहना चाहिए  क्योंकि इससे आपके आवेदन फॉर्म को निरस्त किया जा सकता है | जो जानकारी आपसे पूछे जाए केवल वही जानकारी आपको इस में दर्ज करनी है तभी आप योजना का लाभ प्राप्त कर सकते  है।

सभी प्रकार की अनिवार्य जानकारी करें दर्ज

दोस्तों जो जानकारी अनिवार्य रूप से आप से मांगी जा रही है वह सभी जानकारी आपको दर्ज करना आवश्यक है  दोस्तों आवश्यक जानकारी अधिकतर  स्टार से मार्क की हुई होती है | इसलिए आपको यह पहचान मिल जाती है कि यह बहुत ही आवश्यक जानकारी है जो हमें दर्ज करनी है  यदि आप इस जानकारी को दर्ज करना भूल जाते हैं तो इस स्थिति में आपके एप्लीकेशन फॉर्म को निरस्त कर दिया जाता  है।

आवेदन पत्र की फोटो कॉपी रखें संभाल के

दोस्तों जब आप अपना एप्लीकेशन फॉर्म भर रहे हो तो आपको अपने एप्लीकेशन फॉर्म की   फोटोस्टेट करवा लेनी चाहिए यह आपके लिए एक प्रूफ का कार्य करती है  और  आवश्यकता पड़ने पर आप इसका भविष्य में प्रयोग कर सकते हैं |

रेफरेंस नंबर रखे संभाल के

एप्लीकेशन फॉर्म भरने के पश्चात आपको रेफरेंस नंबर प्रदान किया जाता है इस रिफरेंस नंबर के माध्यम से आप अपने एप्लीकेशन फॉर्म को देख सकते हैं और इसका स्टेटस ट्रैक कर सकते हैं इसीलिए यह एक महत्वपूर्ण नंबर होता  हैं।

Quick Links

Conclusion

उत्तर-प्रदेश आवास विकास योजना, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा शुरू की गयी है | इस योजना को देश के सभी गरीब तथा उन लोगो को जो आर्थिक तंगी के कारण खुद का घर नही बना पाते हैं | उन सभी लोगो को आवास प्रदान करने के लक्ष्य से शुरू किया गया है |

Read more :- फॉर्म मशीनरी बैंक योजना

Leave a comment