One Time Password (OTP) क्या है – OTP In Hindi, Complete Information

Accounts | Banking | Internet | OTP | OTP Full Form | OTP in hindi | One Time Password in hindi | One Time Password क्या है | One Time Password Benefits | One Time Password KYA HOTA HAI | One Time Password (OTP) क्या है?

OTP KYA HOTA HAI :- दोस्तों अधिकतर लोगों को यह पता ही नहीं होता कि One Time Password क्या है यदि आप भी उनमें से एक है तो आपके लिए हमारा यह आर्टिकल बहुत ही लाभकारी होने वाला है क्योंकि हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से One Time Password की जानकारी प्रदान करेंगे |One Time Password को ओटीपी भी कहते हैं दोस्तों आजकल सभी कार्य घर बैठे कि जा सकते हैं |क्योंकि यह डिजिटल दौर है और वेरिफिकेशन के लिए  कुछ सुरक्षा नियम भी अपनाए गए हैं ताकि पर्सनल डाटा हर किसी व्यक्ति के पास ना पहुंचे| जिससे पर्सनल डाटा  अन्य अकाउंट  और अन्य अनजान व्यक्ति के पास ना पहुंचे इसीलिए सुरक्षा हेतु One Time Password को लागू किया गया है| किसी भी वेरिफिकेशन के लिए और  ओटीपी भेज आ जाना एक आम बात हो गई है |

दोस्तों आज इस इंटरनेट के समय में लोग नेट बैंकिंग के माध्यम से अपने बैंकों के कार्यों के निपटा लेते हैं जैसे अपने मोबाइल के माध्यम से ही घर बैठे ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के साथ मोबाइल में रिचार्ज कोई भी ऑनलाइन शॉपिंग आदि को करने के लिए  जरूरी डिटेल्स को भरने की आवश्यकता होती है इसीलिए वेरिफिकेशन  हेतु ओटीपी को  भेजना अनिवार्य कर दिया है ओटीपी के बिना ट्रांजैक्शन नहीं हो सकता है ना ही ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान पेमेंट हो सकती है  दोस्तों ओटीपी का प्रयोग कहां के रहता है क्यों कहता है यदि आपको इस सब की जानकारी प्राप्त नहीं है तो आज आप हमारे इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें जिससे आपको ओटीपी की समस्त जानकारी प्राप्त हो जाएगी |

One Time Password

One Time Password |OTP क्या है?

दोस्तों जैसा कि हमने आप सभी को बताया वेरिफिकेशन के लिए ओटीपी को भेजा जाता है यह एक सिक्योरिटी कोड होता है इस कोड में 6 डिजिट होती है जिससे का प्रयोग हम ऑनलाइन ट्रांजैक्शन शॉपिंग आदि कोई भी ऑनलाइन पेमेंट करने में करते हैं जब वेरिफिकेशन के रहता है तब ओटीपी मांगा जाता है यदि आप सेंड ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक करते हैं तो रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर या फिर ईमेल आईडी पर ओटीपी सेंड किया जाता है आप उस ओटीपी के माध्यम से अपना वेरिफिकेशन कंप्लीट कर पाते हैं और ट्रांजैक्शन भी पूरा हो जाता है |

दोस्तों जब भी कोई भी व्यक्ति ई-कॉमर्स वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन शॉपिंग करता है तब उसे अपनी कुछ जरूरी डिटेल्स को दर्ज करना होता है जिसके माध्यम से पेमेंट हो सकती है पेमेंट करते समय व्यक्ति को अपनी बैंकिंग डिटेल्स को बहुत ही सावधानी से दर्ज करना पड़ता है साथ ही वेरिफिकेशन के लिए सिक्योरिटी कोड दर्ज करना पड़ता है यह सिक्योरिटी कोड ओटीपी ही होता है ओटीपी एसएमएस के माध्यम से आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या फिर ईमेल आईडी पर आता है इसे ही ओटीपी कहते हैं  इस ओटीपी को वेरिफिकेशन करने के लिए दर्ज किया जाता है |

यदि जहां ओटीपी मांगा जाए वहां ओटीपी दर्ज कर दिया जाए तो वह कार्य कंप्लीट हो जाता है चाहे वह पेमेंट का हो या फिर अन्य कोई भी यदि आप ओटीपी दर्ज नहीं करते हैं तब इस स्थिति में आप ट्रांजैक्शन कंप्लीट नहीं कर पाएंगे और आपका कार्य अधूरा रह जाएगा|

ओटीपी का प्रयोग क्यों किया जाता है?

दोस्तों यह बड़ा का सवाल है कि ओटीपी का यूज़ हम क्यों करते हैं दोस्तों ओटीपी एक ऐसा पासवर्ड है जो केवल कुछ ही सेकंड के लिए होता है और यह एक नॉर्मल वेरिफिकेशन पासवर्ड होता है जो वेरीफाई का कार्य करता है इस सुरक्षा कोड के प्रयोग से आप हमेशा सुरक्षित रहते हैं आपका नुकसान होने से बच जाता है  यदि हम किसी भी वेबसाइट पर अपना अकाउंट बना रहे हैं तब भी हमें यूजर नेम और पासवर्ड दर्ज करना होता है यदि हम पासवर्ड क्रिएट करते हैं तो अधिकतर हम अपनी डेट ऑफ बर्थ या फिर जो हमें हमेशा याद रहे वही जानकारी दर्ज करते हैं और  इसी कारण हम असुरक्षित रहते हैं|

जिससे हैकर्स को हमारी आईडी या अकाउंट को हैक करने का मौका मिल जाता है और वह हमारी पर्सनल डिटेल्स को चुरा सकते हैं और हमारी आईडी या अकाउंट को हैक कर सकते हैं या फिर यह भी हो सकता है कि वह व्यक्ति आपकी जान पहचान का हो और आपका यूजर नेम और आपकी पर्सनल डिटेल जैसे आपका पासवर्ड उसको पता हो तो वह उसका प्रयोग करके आप का गलत फायदा उठा सकता है और आपके अकाउंट में तरीके से यूज कर सकता है इसीलिए आज के समय में सभी बैंक ने यह डिसीजन लिया है कि जो व्यक्ति भी ई-कॉमर्स वेबसाइट के माध्यम से कोई भी शॉपिंग करते हैं या फिर ऑनलाइन रिचार्ज करते हैं तो इन सभी के लिए और ओटीपी भेजा जाएगा जिससे  सुरक्षित ट्रांजैक्शन हो पाएगा  और पर्सनल डिटेल्स भी चोरी नहीं हो पाएंगे |

Also Read :-

One Time Password (OTP) से क्या फायेदा होता है?

दोस्तों ओटीपी खुद अपने आप में दूसरा बेनिफिट का ही नाम है क्योंकि ओटीपी के माध्यम से हम सुरक्षित रहते हैं हमारी पर्सनल डिटेल सुरक्षित रहती है हमारे अकाउंट सुरक्षित रहते हैं ओटीपी के माध्यम से हमारा गूगल अकाउंट नेट बैंकिंग अकाउंट बैंक अकाउंट आदि सबको सिक्योरिटी मिलती है ओटीपी की खास बात यह है कि जो सेंड ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक करने पर कोड जनरेट होता है उसका प्रयोग केवल एक समय में एक बार ही कर सकता है|

इसका प्रयोग हम बार-बार नहीं कर सकते हैं क्योंकि यदि हमें बार-बार प्रयोग करना है तो हमें दोबारा सेंड ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा क्योंकि यह ओटीपी कुछ समय के लिए ही सक्रिय रहता है इसके बाद आप इस कोड का प्रयोग नहीं कर सकते हैं यदि हम जितनी बार भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन का कार्य करेंगे हमें उतनी बार ही ओटीपी के लिए दोबारा सेंड ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा इससे नया ओटीपी जनरेट होगा और हमें वही दर्ज करना होगा जिससे हमारा अकाउंट पूरी तरह से सुरक्षित रहेगा और यूज़र भी सुरक्षित रहेंगे  यूजर की पर्सनल डिटेल भी सुरक्षित रहेगी |

दोस्तों यदि किसी व्यक्ति को आपका अकाउंट का यूजर नेम और पासवर्ड की जानकारी पता है तब भी वह आकर कुछ भी नहीं बिगाड़ पाएगा क्योंकि ओटीपी तो आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या फिर आपकी ईमेल आईडी पर ही आएगा इसलिए आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है ओटीपी प्राप्त करने के लिए आपका रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है या फिर आपकी ईमेल आईडी|

ओटीपी का प्रयोग कहां-कहां किया जाता  है??

दोस्तों आइए जानते हैं ओटीपी का प्रयोग हम कहां कहां करते हैं अधिकतर नेट बैंकिंग करते समय हम ओटीपी का प्रयोग करते हैं और जब भी हम किसी को ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करते हैं तब भी हमें ओटीपी का प्रयोग करना होता है गूगल के जो भी यूजर हैं उन सभी को अपने अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए ओटीपी का प्रयोग करना पड़ता है जिससे उनका अकाउंट सिक्योर रहता है और उनकी पर्सनल डिटेल्स भी सिक्योर रहती है|

साथ ही यह भी बेनिफिट है कि यूजर अपने डिवाइस से अन्य डिवाइस में अकाउंट की डिटेल डालकर लॉग इन नहीं कर सकता पहले उसे ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा इसके बाद ही वह लॉगिन कर पाएगा क्योंकि गूगल वेरिफिकेशन करने के लिए ओटीपी की मांग करता है जो कि आपके मोबाइल पर ही आएगा और यदि आपके पास मोबाइल नहीं है तो आप अपने अकाउंट को वेरीफाई नहीं कर सकते हैं |

इस सिक्योरिटी कोड के माध्यम से  कोई भी यूजर अपने अकाउंट को एक्सेप्ट नहीं कर सकता है क्योंकि  जितनी भी ऑनलाइन शॉपिंग की वेबसाइट है जैसे  अमेजॉन फ्लिपकार्ट स्नैपडील इबे आदि और डिजिटल वॉलेट इन सभी की सेवा प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन प्राइवेट कंपनी  जैसे पेटीएम फ्रीचार्ज मोबिक्विक ऑक्सीजन वॉलेट आदि सभी  प्राइवेट कंपनियां आप को सुरक्षित रखने के लिए और आपके अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए ओटीपी का प्रयोग करती है ओटीपी उसी व्यक्ति के मोबाइल पर आएगा जिस व्यक्ति ने अपना मोबाइल नंबर दर्ज किया होगा |

One Time Password के फायदे – Advantages of OTP in Hindi?

दोस्तों आइए अब हम आपको बताते हैं कि ओटीपी से क्या क्या बेनिफिट है इसके क्या क्या एडवांटेज है |

सुरक्षा या सिक्योरिटी को बढ़ाने के लिए-

  • दोस्तों यह तो हम आपको पसंद आ चुके हैं कि यह एक सुरक्षा प्रदान करने वाला कोड है
  • इसको हम सुरक्षा कोड भी कह सकते हैं
  • यह एक यूज़र के लिए सुरक्षा कवच के जैसा होता है
  • यदि किसी व्यक्ति को आपका यूजर नेम और पासवर्ड पता भी है
  • तब भी वह आपके अकाउंट पर लॉगिन नहीं कर पाएगा
  • क्योंकि यूजर को ओटीपी भी दर्ज करना होता है
  • इसलिए अन्य कोई भी व्यक्ति बिना ओटीपी दर्ज किए आपके अकाउंट को एक्सेप्ट नहीं कर सकता है
  • और ना ही आपके अकाउंट का गलत लाभ उठा सकता है|

यूजर का प्रमाणीकरण-

  • दोस्तों जो रियल में जिस व्यक्ति का अकाउंट है इससे उस व्यक्ति का भी प्रमाणीकरण होता है
  • जिससे यह पता चलता है कि यह अकाउंट उसी व्यक्ति का है
  • क्योंकि ओटीपी केवल उसी व्यक्ति को प्राप्त होगा
  • जिसका रियल में वह अकाउंट है यदि जिससे यूजर का अकाउंट है
  • और वह अपने अकाउंट के माध्यम से कोई भी गतिविधि कर रहा है जैसे कि वह अपने अकाउंट का पासवर्ड चेंज कर रहा है या फिर अपने मोबाइल नंबर को अपडेट कर रहा है तो इसके लिए वेरिफिकेशन हेतु सिस्टम यूजर को ओटीपी भेजता है
  • इस ओटीपी को दर्ज करने के बाद ही यूजर का प्रमाणीकरण होता है
  • और यूजर द्वारा किए गए एक्शन को सही माना जाता है|

स्पैमिंग से बचाव-

  • दोस्तों आजकल तो वैसे भी नेट बैंकिंग का जमाना है
  • सभी लोग ऑनलाइन पैसों का लेनदेन नेट बैंकिंग के माध्यम से ही करते हैं
  • और ट्रांजैक्शन कर बैंकों से आने-जाने के समय में भी बचत करते हैं
  • इसलिए नेट बैंकिंग को सुरक्षित बनाने के लिए और बैंक खाताधारकों से अनुमति लेने के लिए ओटीपी सेंड करता है
  • जिससे असल यूजर  की पहचान हो पाती है
  • जो व्यक्ति वित्तीय लेनदेन नेट बैंकिंग के माध्यम से करते हैं और अधिकतर एसी सोर्स का प्रयोग करते हैं
  • तो उन्हें सुरक्षित रहने की अधिक आवश्यकता है
  • उन्हें सुरक्षा प्रदान करने के लिए ओटीपी की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है
  • जिसके प्रयोग से सही यूज़र ही अपने अकाउंट को एक्सेस कर सकता है
  • और अपने अकाउंट के माध्यम से ट्रांजैक्शन कर सकता है |

डबल सिक्योरिटी अनेबल कर सकते हैं-

  • दोस्तों आप One Time Password के माध्यम से अपने अकाउंट या फिर अपने फेसबुक या व्हाट्सएप
  • या फिर ट्विटर गूगल अकाउंट पर ओटीपी डबल सिक्योरिटी को अनेबल कर सकते हैं
  • इससे आपका अकाउंट और भी ज्यादा सुरक्षित बन जाएगा
  • आपको अन्य यूजर से भी कोई खतरा नहीं रहेगा
  • कोई अन्य यूजर आपके अकाउंट को  एक्सेस नहीं कर पाएगा |

मुफ्त-

  • दोस्तों वन टाइम पासवर्ड बिल्कुल मुफ्त पासवर्ड होता है
  • इसके लिए आपको कोई शुल्क पर करने की जरूरत नहीं है|

फास्ट अर्थात तेज-

  • दोस्तों ओटीपी एक ऐसा पासवर्ड होता है जो कुछ ही सेकंड ओ के लिए उपलब्ध होता है
  • यदि आप ने 59 seconds में इसका यूज नहीं किया है तो यह पासवर्ड रद्द हो जाएगा
  • फिर आपको अपना कार्य करने के लिए दोबारा सेंड ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा
  • फिर उसका प्रयोग करना होगा|

For more info :- Click here

Conclusion

दोस्तों आज हमने अपने आर्टिकल के माध्यम से आपको वन टाइम पासवर्ड अर्थात ओटीपी असल में है क्या इसकी जानकारी प्रदान की| हमने इस उद्देश्य से आपको ओटीपी की जानकारी प्रदान की कि आप भविष्य में करने वाले कार्य को सुरक्षित रूप से कर पाए और ओटीपी का मेन वर्क समझ सके और जिससे आपको ट्रांजैक्शन करते समय किसी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े और आपको किसी भी वित्तीय नुकसान को ना झेलना पड़े |दोस्तों इसीलिए हमने अपनी वेबसाइट के माध्यम से आपको वन टाइम  पासवर्ड अर्थात ओटीपी से संबंधित जानकारी प्रदान की है  हमें उम्मीद है यह जानकारी आपको पूरी तरह समझ में आई होगी  यदि आपको यह जानकारी समझ आई है तो आप हमारी वेबसाइट पर निरंतर विजिट करते रहिए|  हम लगातार आपको  सच्ची और लाभकारी जानकारियों से परिचित कराते रहेंगे |हमारा आर्टिकल पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद|

 196 total views,  1 views today