कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 : ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

कृषि इनपुट अनुदान योजना | किसान सब्सिडी योजना | कृषि इनपुट अनुदान योजना (2019-20) आवेदन प्रपत्र प्रिंट | बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना | Krishi input subsidy scheme apply |

Krishi Input Subsidy Scheme : कृषि इनपुट अनुदान योजना को बिहार राज्य के किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू किया गया है। इस योजना को बिहार सरकार द्वारा आरंभ किया गया है। इस योजना के तहत बिहार राज्य के ऐसे किसान जिन की फसलें बारिश व ओलावृष्टि की वजह से प्रभावित हो गई हैं। या उनकी फसलों को काफी नुकसान हुआ है। ऐसे किसानों को सरकार द्वारा अधिकतम ₹13500 प्रति हेक्टेयर का अनुदान प्रदान किया जाएगा। इस krishi input subsidy scheme के तहत बिहार राज्य के औरंगाबाद ,भागलपुर ,बक्सर ,गया, जहानाबाद, कैमूर ,मुजफ्फरपुर ,पटना, पूर्वी, चंपारण ,समस्तीपुर व वैशाली शामिल है।

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको कृषि इनपुट अनुदान योजना के बारे में जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। इस योजना को बिहार सरकार द्वारा बिहार के किसानों की फसलों को प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान की भरपाई के लिए शुरू किया गया है। इस योजना से संबंधित और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आज के हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

कृषि इनपुट अनुदान योजना

Krishi input subsidy scheme 2020 क्या है?

डीबीटी बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना भारत सरकार द्वारा अधिसूचित प्राकृतिक आपदाओं में एवं राज्य सरकार द्वारा स्थानीय आपदाओं की अवस्था में निर्धारित सहायता मापदंडों के अनुसार प्रदान की जाएगी। इस कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2020 के तहत बिहार राज्य के ऐसे किसान जिनकी फसल को बाढ़ तथा अतिवृष्टि से क्षति पहुंची है। उन वर्षाश्रित (असिंचित) क्षेत्र के लिए प्रति हेक्टेयर ₹6800। तथा सिंचित क्षेत्र के लिए प्रति हेक्टेयर ₹13500। तथा वह कृषि योग्य भूमि जहां पर बालू/सिल्ट का जमाब 3 से अधिक हो के लिए प्रति हेक्टेयर ₹12200 की दर का अनुदान प्रदान किया जाएगा।

कृषि इनपुट अनुदान योजना का उद्देश्य क्या है?

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि बिहार राज्य के बहुत से लोग खेती का काम करते हैं। और खेती करने वाले किसानों की फसलों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण भारी नुकसान का सामना करना पड़ता है। इसी कारण कई किसान तो आत्महत्या ही कर लेते हैं। इन सभी समस्याओं पर ध्यान केंद्रित करते हुए राज्य सरकार द्वारा कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 का आरंभ किया गया। इस योजना के तहत फसलों को वर्षा, आंधी व ओलावृष्टि आदि प्राकृतिक आपदा से हुई क्षति के लिए सरकार द्वारा अधिकतम ₹13500 प्रति हेक्टेयर का अनुदान दिया जाएगा।

Bihar Krishi Input Subsidy Scheme 2020 Highlights

योजना का नामकृषि इनपुट अनुदान योजना
इनके द्वारा शुरू किया गया हैबिहार सरकार द्वारा 
लाभार्थीराज्य के किसान
विभागप्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://dbtagriculture.bihar.gov.in/

किसान सम्मान निधि योजना 2020 : Click here

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना न्यू अपडेट

इस साल के अप्रैल माह में जिन किसानों को प्राकृतिक आपदाओं और ओला, बारिश की वजह से रबी फसलों को नुकसान हुआ है। उन फसलों की भरपाई करने के लिए बिहार सरकार द्वारा राज्यों के किसानों को अनुदान देने का फैसला लिया गया है। मार्च के महीने में रवि फसल को हुई क्षति के लिए जो किसान इस बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना के तहत आवेदन नहीं कर पाए हैं। उनके लिए एक अच्छी सूचना है उन्हें बिहार सरकार द्वारा एक और मौका प्रदान किया जा रहा है।

कृषि एवं बागवानी फसल क्षति वाले बिहार में 19 जिले गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चम्पारण, पश्चिमी चम्पारण, समस्तीपुर, बेगूसराय, लखीसराय, खगड़िया, भागलपुर, सहरसा, सुपौल, मधेपुरा, सीतामढ़ी, शिवहर, दरभंगा, मधुबनी, पूर्णिया, किशनगंज तथा अररियआ के प्रतिवेदन 148 प्रखंड आदि क्षेत्रों के किसान कृषि इनपुट अनुदान योजना के अंतर्गत 7 से 20 मई तक आवेदन करके इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना की अन्य जानकारी

कृषि मंत्री द्वारा कहा गया है कि साल के मार्च के महीने में बिहार के 23 जिला पटना, नालंदा, भोजपुर, बक्सर, रोहतास, औरंगाबाद, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, पश्चिमी चम्पारण, दरभंगा, समस्तीपुर, मुगेर, शेखपुरा, लखीसराय, भागलपुर, भभुआ, गया, जहानाबाद, अरवल नवादा, बांका, मधेपुरा तथा किशनगंज के प्रतिवेदित 196 प्रखंडों के वह किसान जिनका आवेदन छूट गया था। वह इस योजना के अंतर्गत अनुदान प्राप्त करने के लिए कृषि विभाग के डीबीटी पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

किसान यह आवेदन सिर्फ 4 से 11 मई तक ही कर सकते हैं। और रवि फसलों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए सरकार द्वारा अनुदान प्राप्त कर सकते हैं। कृषि इनपुट सब्सिडी योजना,बिहार राज्य के किसानों के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होगी।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 के लाभ

  • इस योजना के तहत असिंचित क्षेत्र में किसानों की फसल के लिए प्रति हेक्टेयर ₹6800। तथा सिंचित क्षेत्र के किसानों को ₹13500 प्रति हेक्टेयर का अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • ऐसी कृषि योग्य भूमि जहां बालू/का जमाब 3 से अधिक हो। उसके लिए सरकार द्वारा प्रति हेक्टेयर ₹12200 का अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • बिहार कृषि इनपुट योजना 2020 के तहत जो प्रभावित किसान हैं उन्हें न्यूनतम 1000₹ का अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • कृषि इनपुट अनुदान योजना के तहत सब्सिडी की राशि डीबीटी द्वारा सीधे प्रदान की जाती है। इसलिए आपके खाते में पैसा आधार कार्ड के माध्यम से ही भेजा जाएगा।
  • बिहार राज्य के जो किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं। इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना होगा।
  • कृषि इनपुट सब्सिडी योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन करने से सबसे पहले आप यह सुनिश्चित करना है कि आपका जिला सूखाग्रस्त घोषित हुआ है या नहीं। यह सुनिश्चित करने के लिए आप अपने ब्लॉक में जाकर भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

कृषि इनपुट योजना के आवश्यक दस्तावेज (पात्रता)

  • इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक को बिहार का स्थाई निवासी होना आवश्यक है।
  • आवेदक किसान के पास खेती योग्य भूमि होनी चाहिए।
  • वहीं बटाईदार के पास वास्तविक खेतीहर+स्वयं भू-धरी की स्थिति में भूमि के दस्तावेज के साथ स्व घोषणा पत्र संलग्न करना अनिवार्य है।
  • खेती के दस्तावेज़
  • किसान के पास एलपीसी/जमीन रसीद/वंशावली/जमाबंदी/विक्रय पत्र होना चाहिए।
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 के तहत आवेदन कैसे करें?

जो इच्छुक लाभार्थी कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 के तहत आवेदन करना चाहते हैं। नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो करें:-

  • आवेदन करने के लिए सर्वप्रथम आवेदक को प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खोलकर आ जाएगा।
  • होम पेज पर एक ऑनलाइन आवेदन करें का विकल्प होगा।
  • इस विकल्प में से आपको कृषि इनपुट अनुदान का विकल्प खोजकर इस विकल्प पर क्लिक करना है।
  • आगे बढ़ने से पहले एक पृष्ठ पर दिए गए सभी महत्वपूर्ण निर्देशों को पढ़ ले।
  • सर्च के बटन पर क्लिक करने के पश्चात आपकी स्क्रीन पर अगले पेज पर आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • अब आपसे इस आवेदन फॉर्म में पूछी गई समस्त जानकारी जैसे कि नाम, पता ,आयु, आधार संख्या , पंचायत ,किसान का प्रकार ,DOB, पिता का नाम आदि को पूछे गए ऑप्शंस में भरना है।

पूरा आवेदन पत्र भाग 2

  • आवेदन फॉर्म के दूसरे भाग में किसानों को भूमि से संबंधित जानकारी भरनी है ।
  • भूमि संबंधित जानकारी जैसे की भूमि का क्षेत्रफल (दशमलव में अधिकतम 2 हेक्टर), किसान की श्रेणी, और फसल के नुकसान का प्रकार आदि को भरना होगा।
  • आवेदन फॉर्म के तीसरे भाग में राज्य के किसानों को उपलब्ध कराई गई जगह में कृषि योग्य भूमि से संबंधित जानकारी भरनी है।
  • उसके बाद आपको घोषणा वाला भाग भरना है। ओटीपी के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा।
  • आपको उस ओटीपी को आवेदन फॉर्म भरना होगा।
  • इसके पश्चात किसानों को स्व घोषणा पत्र का चयन करना है। तथा यह जांच करनी होगी कि उन्होंने सभी मांगी गए आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड किया है या नहीं।
  • इसके पश्चात आपको अपना आवेदन फॉर्म ऑनलाइन जमा करना होगा।
  • आपका आवेदन पूरा होने के पश्चात आपको एक पंजीकरण संख्या मिल जाएगी।
  • इस पंजीकरण संख्या को आप को सुरक्षित करके रखना है।

आवेदन फॉर्म प्रिंट कैसे करें?

  • आवेदन फॉर्म प्रिंट करने के लिए सर्वप्रथम योजना की बिहार एग्रीकल्चर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर एक आवेदन की स्थिति/प्रिंट का सेक्शन होगा ।
  • इस सेक्शन पर क्लिक करना है।फिर इस सेक्शन में आपके सामने एक इनपुट सब्सिडी प्रिंट का ऑप्शन होगा।
  • आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगला पेज खुलकर आ जाएगा।
  • अगले पेज मे आपको अपनी रजिस्ट्रेशन संख्या को भरना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन संख्या बढ़ने के पश्चात आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना है।
  • बटन पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल कर आ जाएगा।
  • अब आपको अपने आवेदन फॉर्म को प्रिंट करने के लिए प्रिंट के बटन पर क्लिक करना होगा।

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 के तहत आवेदन की स्थिति कैसे देखें?

  • सर्वप्रथम आपको बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • होम पेच पर आपको एक आवेदन की स्थिति/प्रिंट का सेक्शन सेक्शन दिखाई देगा।
  • आपको इसी सेक्शन पर क्लिक करना है।
  • इस सेक्शन के अंतर्गत आपको इनपुट सब्सिडी 2019-20 का विकल्प दिखाई देगा।
  • आपको इस विकल्प पर ही क्लिक करना है।
  • इस विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपकी स्क्रीन पर अगला पेज खुलकर आ जाएगा।
  • अब आपको इस पेज पर अपना एप्लीकेशन नंबर भरना होगा।
  • एप्लीकेशन नंबर पढ़ने के पश्चात आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना है।
  • सर्च पर क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर आवेदन की स्थिति खुलकर आ जाएगी।

Conclusion

बिहार सरकार द्वारा बिहार के किसानों की फसलों को प्राकृतिक आपदा के कारण हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 की शुरुआत की गई है। इस योजना के तहत असिंचित क्षेत्र के लिए प्रति हेक्टेयर ₹6800।सिंचित क्षेत्र के प्रति हेक्टेयर ₹13500 का आदान प्रदान किया जाएगा। इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए आपको प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। ऐसे किसान जो रवि फसल के नुकसान की भरपाई के लिए आवेदन नहीं कर पाए थे।उन्हें अब आवेदन का दूसरा मौका प्रदान किया जा रहा है। वह 4 से 11 मई तक डीबीटी पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। रबी फसलों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए अनुदान प्राप्त कर सकते हैं।

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हमने आपको कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की| हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा आज का यह आर्टिकल अवश्य ही पसंद आएगा| यदि आप इस आर्टिकल से संबंधित किसी भी प्रकार का कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके भी पूछ सकते हैं| हम अवश्य ही आपके प्रश्नों का उत्तर प्रदान करेंगे| हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद|

Read more :

राष्ट्रीय वयोश्री योजना 2020 : Click here

Leave a comment