आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2021 : ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2021 | Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan Online | झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान ऑनलाइन आवेदन | आजीविका संवर्धन हुनर अभियान एप्लीकेशन फॉर्म | ASHA Yojana In Hindi

Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan : झारखंड सरकार महिलाओं के सशक्तिकरण हेतु समय-समय पर नई नई योजनाएं शुरू करती रहती है| ऐसी ही एक नई योजना झारखंड सरकार के द्वारा महिलाओं को सशक्त बनाने तथा उन्हें रोजगार के नए अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू की गई है| इस योजना का नाम झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान है| इस योजना के माध्यम से राज्य की लगभग 17 लाख ग्रामीण महिलाओं को जोड़ा जाएगा|

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हम आपको झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे| जैसे कि- झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान क्या है?, इसके उद्देश्य, लाभ तथा विशेषताएं, आवेदन प्रक्रिया, आवश्यक दस्तावेज आदि| यदि आप भी इस योजना से जुड़ी संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको इसके लिए हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ना होगा|

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान

Jharkhand ASHA Yojana क्या है?

झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना का दूसरा नाम झारखंड आशा योजना भी है| इस योजना को राज्य सरकार द्वारा राज्य की महिलाओं सशक्त बनाने के लिए शुरू किया गया है| इस अभियान के माध्यम से झारखंड की महिलाओं को कृषि आधारित आजीविका, पशुपालन, वनोपज संग्रहण, उद्यमिता समेत स्थानीय संसाधनों के क्षेत्र से जुड़े स्वरोजगार के नए नए अवसर प्रदान किए जाएंगे| इस अभियान के तहत राज्य की 17 लाख ग्रामीण महिलाओं को लाभ प्रदान किया जाएगा| महिलाओं को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से ही झारखंड आशा योजना को शुरू किया गया है|

क्यो की गई झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान की शुरुआत?

झारखंड में बहुत सी ऐसी महिलाएं थी जो अपना घर खर्च चलाने के लिए सड़क पर हडिया दारु बेचने का कार्य करती थी| यह योजना विशेष रुप से ऐसी ही महिलाओं के लिए शुरू की गई है| मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी ने महिलाओं की स्थिति को समझते हुए कहा कि महिलाएं यह काम केवल मजबूरी में ही करती है| अब कोई भी महिला सड़क पर हडिया दारु बेचते हुए नहीं दिखाई देगी| क्योंकि सरकार द्वारा अब हडिया दारू बेचने वाली महिलाओं को झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के माध्यम से रोजगार तथा स्वरोजगार के नए अवसर प्रदान किए जाएंगे| जिससे महिलाएं रोजगार प्राप्त करके अपने घर का खर्च चला सकती हैं तथा उन्हें आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के माध्यम से अब दारू बेचने जैसे इत्यादि कार्य नहीं करने पड़ेंगे|

Key Highlights Of Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan

योजना का नामझारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान
किस ने लांच कीझारखंड सरकार
लाभार्थीझारखंड की महिलाएं
उद्देश्यमहिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी।
साल2021

पलाश ब्रांड का भूमंडलीकरण

पलाश ब्रांड झारखंड सरकार का ही एक ब्रांड है| झारखंड की राज्य सरकार इस ब्रांड को पूरे विश्व में पहचान देना चाहती है| इस ब्रांड को आगे ले जाने में सरकार ने राज्य की महिलाओं को प्रोत्साहित किया है| मुख्यमंत्री माननीय श्री हेमंत सोरेन जी के अनुसार टाटा और अमूल की तरह पलाश ब्रांड की सीमाएं भी बहुत आगे जाएंगी| मुख्यमंत्री जी ने लिज्ज़त पापड़ तथा अमूल के बारे में भी बताया जिस का उत्पादन महिला स्वयं सहायता समूह के द्वारा किया जाता है|

झारखंड सरकार पलाश ब्रांड को भी महिला एवं सहायता समूह द्वारा उत्पादन किए गए उत्पाद से आगे ले जाना चाहती है तथा इसकी पहचान पूरे विश्व में बनाना चाहती है| पलाश ब्रांड के माध्यम से राज्य की महिलाओं का सशक्तिकरण भी होगा| क्योंकि इस ब्रांड के अंतर्गत सिर्फ खाने-पीने के उत्पाद ही बनाए जाते हैं| आने वाले समय में जूते, चप्पल, साड़ी आदि उत्पाद भी पलाश ब्रांड के अंतर्गत बेचे जाएंगे| इससे महिलाओं को रोजगार के नए अवसर प्राप्त हो सकेंगे|

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान झारखंड बजट

इस अभियान के लिए राज्य सरकार द्वारा 600 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है| मुख्यमंत्री जी के द्वारा इस योजना के तहत स्वयं दुमका के मंडलों के बीच 150 करोड़ रुपए वितरित किए गए हैं। झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना का संचालन ग्रामीण विकास विभाग द्वारा किया जाएगा। इसके साथ मुख्यमंत्री जी ने यह भी बताया कि झारखंड सरकार राज्य के सभी नागरिकों को रोजगार देने में पूरी तरह से सक्षम है। अतः अब झारखंड सरकार द्वारा प्रतिदिन लगभग 650000 लोगों को रोजगार प्रदान किया जाता है।

आजीविका संवर्धन हुनर योजना के लाभ तथा विशेषताएं

झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना के लाभ तथा विशेषताएं निम्नलिखित प्रकार हैं-

  • आजीविका संवर्धन हुनर योजना को महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए शुरू किया गया है|
  • यह योजना विशेष रूप से झारखंड की हडिया दारू बेचने वाली महिलाओं के लिए आरंभ की गई है|
  • इस योजना के माध्यम से हडिया दारू बेचने वाली महिलाओं को रोजगार तथा स्वरोजगार के नए-नए अवसर प्राप्त होंगे|
  • झारखंड आशा योजना से महिलाओं को पशुपालन,उद्यमिता समेत आदि स्थानीय संसाधनों से जुड़े स्वरोजगार के अवसर प्राप्त हो सकेंगे|
  • आजीविका संवर्धन हुनर योजना के माध्यम से राज्य के लगभग 17 लाख ग्रामीण परिवारों को जोड़ा जाएगा|
  • अब झारखंड की महिलाओं को अपना घर खर्च चलाने के लिए हडिया दारू बेचने का कार्य नहीं करना पड़ेगा|
  • इस योजना के लिए सरकार द्वारा 600 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है|
  • आजीविका संवर्धन हुनर योजना का संचालन ग्रामीण विकास विभाग द्वारा किया जाएगा |
  • झारखंड आशा योजना का लाभ केवल झारखंड की महिलाओं को ही प्राप्त होगा|

ASHA की पात्रता तथा आवश्यक दस्तावेज

झारखंड आशा योजना के तहत आवेदन करने के लिए पात्रता तथा आवश्यक दस्तावेज निम्नलिखित प्रकार हैं-

  • आवेदक झारखंड का स्थाई निवासी होना चाहिए
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

यदि आप भी झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले इस योजना के तेहत आवेदन करना होगा| परन्तु अभी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको कुछ समय तक प्रतीक्षा करनी होगी| क्योंकि सरकार द्वारा अभी केवल इस योजना की घोषणा की गई है| सरकार ने अभी तक इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए किसी भी ऑनलाइन पोर्टल को लॉन्च नहीं किया है|

जल्द ही झारखंड सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया बता दी जाएगी| जैसे ही झारखंड सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया बताई जाएगी हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से सूचित कर देंगे| अतः आजीविका संवर्धन हुनर अभियान से जुड़े अपडेट के लिए आप हमारे आर्टिकल से जुड़े रहे|

Conclusion-

झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर योजना को झारखंड सरकार द्वारा महिलाओं को सशक्त बनाने के उद्देश्य से शुरू किया गया है| इस योजना के माध्यम से महिलाओं को रोजगार व स्वरोजगार के नए नए अवसर प्रदान किए जाएंगे | यह योजना विशेष रूप से उन महिलाओं के लिए शुरू की गई है जो अपना घर खर्च चलाने के लिए दारू इत्यादि बेचने का कार्य करती हैं| आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के माध्यम से महिलाओं को इस प्रकार के कार्य करने की आवश्यकता नहीं होगी| इस योजना के अंतर्गत राज्य के करीब 17 लाख ग्रामीण परिवारों को जोड़ा जाएगा|

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हमने आपको झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की| हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा आज का यह आर्टिकल अवश्य ही पसंद आएगा| यदि आप इस आर्टिकल से संबंधित किसी भी प्रकार का कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट भी कर सकते हैं| हम अवश्य ही आपके प्रश्नों का उत्तर प्रदान करेंगे| हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद|

आगे पढ़िए : प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान

Leave a comment